इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शुक्रवार, 22 मई 2009

मनमोहन भाई... इन लालची बिल्लियों से सावधान...


5 टिप्‍पणियां:

  1. सुन्दर एवं समसामयिक।

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    www.manoramsuman.blogspot.com
    shyamalsuman@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक आँख तो नकली सुनी थी..फिर दोनों से एक सी आवाज!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. बिल्ली नही बिल्ला है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. haan ji ek aankh nakli hai ye nahi chalega..
    saari malaai ek hi aankh mein honi chahiye..
    times..times
    ha ha ha ha

    उत्तर देंहटाएं