इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

मंगलवार, 19 मई 2009

जल ही जीवन है और... ' नल पर मृत्यु है...'


6 टिप्‍पणियां:

  1. bhai, hamare ABHISHKji bhi BHIND ke hi hain,BAGHI hain par SANSAD main nahin logo ke DILON main rahte hain. apka unse kya LINK hai. vaise aap daily JOOTA bahut jor se marte ho.BADHAI.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही सटीक व्यंग्य दिया है भाई यही सच में हो रहा है . पानी से लोग परेशान है मटके और बल्ल्तियो से पानी न मिलने पर एक दूसरे के सर फोड़ रहे है . ऐसे समाचार आयेदिन पढ़ने को खूब मिल रहे है .
    महेंद्र मिश्र
    जबलपुर.

    उत्तर देंहटाएं
  3. Please chek out this new very powerful search engine:

    http://ogoole.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं